शिक्षा मंत्री की एक ‘चाहत’, गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल हो सफल ‘रीटोत्सव’


Jaipur: सूबे की सबसे बड़ी परीक्षा रीट (REET Exam 2021) का आयोजन 26 सितंबर को सफलतापूर्वक आयोजित की गई. रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा ने पूरे देश के सामने एक मिसाल पेश कर दी है, जिसमें करीब 26 लाख परीक्षार्थियों ने एक ही दिन में शांतिपूर्ण तरीके से दी. हालांकि कुछ घटनाओं को छोड़ दिया जाए तो ये परीक्षा रिकॉर्ड के लिहाज से अपना नाम गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल करवाने की हकदार बन चुकी है और कहीं ना कहीं शिक्षा मंत्री ने भी ये इच्छा जताई है कि इस परीक्षा को गिनिज बुक में स्थान मिले.

यह भी पढ़ें-भारत बंद के आह्वान पर Rajasthan में भी प्रदर्शन, जयपुर में बंद का रहा मिलाजुला असर

रीट परीक्षा में कुछ घटनाओं को छोड़ दिया जाए, तो इतने बड़े स्तर की इस परीक्षा का शांतिपूर्ण सम्पन्न होना कहीं ना कहीं बधाई का पात्र है. शिक्षा विभाग, पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन, परिवहन विभाग सहित प्रदेश के सभी भामाशाहों, एनजीओ, छात्र संगठनों ने इस परीक्षा को सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूरी परीक्षा पर नजर बनाए रखी और सभी को समय-समय पर जो दिशा निर्देश और आदेश दिए उससे ये परीक्षा सफल बनी है. यहां तक की दूसरे राज्यों के परीक्षार्थियों ने भी परीक्षा आयोजन की खुले दिल से तारीफ की है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी शिक्षा विभाग के सभी प्रस्तावों को हरी झंडी देकर इस परीक्षा को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.’

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि ‘रीट परीक्षा के सफल आयोजन से राजस्थान की साख बढ़ी है, हालांकि अलवर में एक परीक्षा केंद्र पर ट्रैफिक की वजह से पेपर लेट पहुंचा था, जिसके चलते वहां पहली पारी का पेपर नहीं हो पाया. करीब आधा घंटे पेपर लेट पहुंचा था, जिसके बाद परीक्षार्थियों ने परीक्षा देने से इंकार कर दिया. अधिकारियों ने समझाइश भी की, लेकिन वो काम नहीं आई. अब अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं कि इस परीक्षा को लेकर परीक्षा आयोजन जल्द से जल्द कदम उठाएं और इनकी अलग से परीक्षा करवाई जाए. इस परीक्षा केंद्र पर करीब 600 परीक्षार्थी थे, जिनकी बाद में अलग से परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी.

यह भी पढ़ें-PCC ने संगठन में नियुक्तियों का खाका किया तैयार, इस बार पार्टी ने निकाला ये नया फार्मूला

रीट परीक्षा के दौरान कुछ शिक्षक और पुलिसकर्मी के पास पहले पेपर पहुंचना कहीं ना कहीं चिंता का विषय था. जिसको लेकर शिक्षा मंत्री ने कहा कि ‘चप्पल में डिवाइस लगाकर नकल के प्रयास किए गए, जिसमें शिक्षा विभाग और पुलिस विभाग के लोग शामिल रहे. ऐसे लोगों पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी, जिसकी घोषणा की गई थी. इसके साथ ही जो-जो लोग इस नकल में शामिल थे, वो चाहे कोई अधिकारी हो या परीक्षार्थी उनको परीक्षा से बाहर कर सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा.’

बड़े स्तर पर आयोजित हुई इस परीक्षा के बाद अब कहीं ना कहीं शिक्षा विभाग की साख में भी बढ़ोतरी होगी. इसके साथ ही आने वाले समय में परीक्षा को कैसे पारदर्शी रूप से आयोजित करवाया जाएगा इसका एक उदाहरण भी पेश हुआ है.



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *