Sawai Madhopur Ranthambore Tiger Project से आई खुशखबरी, 4 शावकों संग दिखी बाघिन T-111


Jaipur: सवाई माधोपुर रणथंभौर बाघ परियोजना (Sawai Madhopur Ranthambore Tiger Project) से खुशखबरी मिली है. शनिवार को इस परियोजना क्षेत्र में बाघिन टी-111 अपने चार शावकों के साथ देखी गई. इसके बाद फील्ड डायरेक्टर ने क्षेत्र में मॉनिटरिंग बढ़ा दी है.

यह भी पढ़ें- Sawai Madhopur: Ranthambore की बाघिन रिद्धि की जल्द शिफ्ट किया जाएगा सरिस्का

सवाई माधोपुर के मुख्य वन संरक्षक (वन्य जीव एवं क्षेत्र निदेशक) टीसी वर्मा ने बताया कि रणथंभौर बाघ परियोजना की रेंज कुंडेरा के लक्कड़दा छेत्र स्थित आडी डगर नाले में शनिवार सुबह फील्ड बायोलॉजिस्ट हरि मोहन मीणा को बाघ के चार बच्चे दिखाई दिए. मौके पर बच्चों की मां दिखाई नहीं दी. 

यह भी पढ़ें– Sawai Madhopur: मादक शावक का मिला शव, Ranthambore National Park में फैली सनसनी

इसके बाद शाम को वर्मा ने अन्य अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया, तो बच्चों के साथ उनकी मां भी दिखाई दे गई. मां की पहचान बाघिन टी-111 के रूप में हुई है. चारों बच्चे लगभग 2 महीने के हैं.

मॉनिटरिंग के लिए लगाए जा रहे कैमरे
वर्मा ने बताया कि वर्तमान में रणथंभोर बाघ परियोजना क्षेत्र में फेज 4 मॉनिटरिंग के अंतर्गत कैमरा ट्रैप लगाए जा रहे हैं. पिछले 2 महीनों से बाघिन टी-111 के व्यवहार एवं शारीरिक संरचना से लग रहा था कि उसने बच्चों को जन्म दिया है. आज 4 शावकों सहित बाघिन टी-111 के देखने से इस तथ्य की पुष्टि हो गई.  

कहां कितने बाघ मौजूद
वर्मा ने बताया कि शावकों सहित बाघिन टी-111 के देखे जाने के बाद क्षेत्र में मॉनिटरिंग बढ़ा दी गई है. वर्मा के अनुसार इन बच्चों के साथ अब रणथंभौर बाघ परियोजना में 21 नर बाघ, 30 मादा और 18 शावक सहित कुल 69 बाघ हैं. इसके अतिरिक्त रणथंभौर बाघ परियोजना करौली के अधीन कैला देवी अभ्यारण्य में एक नर बाघ, एक मादा बाघ और दो शावक सहित कुल 4 तथा धौलपुर में एक नर बाघ, एक मादा बाघ और दो शावकों सहित कुल चार बाघ मौजूद हैं.

 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *