जॉर्डन के शाही परिवार में विवाद बढ़ा, अदालत की चौखट तक पहुंचा मामला


अम्मान (जॉर्डन): जॉर्डन में सदी का सबसे अहम मुकदमा अगले सप्ताह राज्य सुरक्षा अदालत में शुरू होगा जब किंग अब्दुल्लाह द्वितीय के रिश्तेदार और शाही दरबार के पूर्व प्रमुख आरोपी की तरह कठघरे में राजद्रोह और भड़काने के आरोपों का सामना करने पहुंचेंगे.

किंग के खिलाफ साजिश रचने के आरोप

इन पर शाही परिवार के वरिष्ठ सदस्य और जॉर्डन के मौजूदा शाह के सौतेले भाई राजकुमार हमजा के साथ मिलकर विदेशी मदद से किंग अब्दुल्ला के खिलाफ जनता में असंतोष पैदा करने की साजिश रचने का आरोप है. महल का यह नाटक अप्रैल महीने की शुरुआत में तब सार्वजनिक हुआ था जब हमजा को नजरबंद किया गया.

जॉर्डन के इतिहास का सबसे बड़ा मुकदमा

बचाव पक्ष के वकील अला खासावनेह ने कहा, ‘जहां तक मेरी जानकारी है जॉर्डन के इतिहास में इतना बड़ा मुकदमा नहीं चला है.’ उन्होंने कहा कि सुनवाई संभवत: सोमवार को शुरू होगी. इस पूरे घटनाक्रम के केंद्र में 41 वर्षीय हमजा हैं लेकिन वह मुकदमे का सामना नहीं कर रहे हैं.

साल 2004 में छिनी थी शाही पदवी

गौरतलब है कि वर्ष 2004 में किंग अब्दुल्ला ने अपने बड़े बेटे के लिए हमजा से वलीहद (युवराज) का दर्जा छिन लिया था. जानकारी के मुताबिक सोमवार को शाही परिवार के सदस्य शरीफ हसन बिन जैद और पूर्व शाही सलाहकार बसीम अवादाल्लाह राजद्रोह और भड़काने का आरोपों का सामना करेंगे.



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *