Haridwar Kumbh 2021: कुंभ पर मंडरा रहा खतरा, केंद्र ने किया उत्तराखंड सरकार को आगाह


मयंक राय/देहरादून: हरिद्वार कुंभ मेले को देखते हुए केंद्र सरकार ने उत्तराखंड की बीजेपी सरकार (Bjp Government) को चिट्ठी लिखकर कई सलाह दी हैं. केंद्र की तरफ से भेजी गई चिट्ठी में कहा गया है कि कुंभ मेले के दौरान उच्च स्तरीय सेंट्रल टीम के सुझाए गए उपायों को अमल में लाना सुनिश्चित करें. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने उत्तराखंड के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर कुंभ के मद्देनजर कोरोना बढ़ने की आशंका को लेकर आगाह किया है. 

महंत नरेंद्र गिरी ने की नए सीएम तीरथ सिंह रावत की तारीफ, महाकुंभ के लिए मांगी ये सुविधाएं

हरिद्धार में RTPCR टेस्ट की संख्या बेहद कम 
पत्र में कहा गया है कि हरिद्धार में आरटीपीसीआर टेस्ट (RTPCR Test) की संख्या बेहद कम है जिसे तुरंत आईएमआर (IMR) के मानकों के अनुरूप बढ़ाया जाना चाहिए. ये तीर्थयात्रियों की संभावित संख्या को देखते हुए काफी नहीं है. देश मे लगातार बढ़ रहे मामलों को लेकर पत्र में चिंता जाहिर की गई है. उन्होंने पत्र में लिखा कि कुंभ मेले के दौरान कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए सख्त कदम उठाए जाने की जरुरत है. 

प्रदेश के सभी सरकारी डिग्री कॉलेजों में 4G कनेक्टिविटी की प्रक्रिया तेज, अभी होंगे कई और बदलाव

देश के कई राज्यों में बढ़ रहे कोरोना के मामले
केंद्रीय सचिव के पत्र के मुताबिक देश के 12 प्रमुख राज्यों में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी दिख रही है. इन राज्यों से भी लोग कुंभ में आएंगे इसलिए कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी हो सकती है. इन राज्यों से तीर्थयात्रियों के कुंभ के दौरान हरिद्वार आने की संभावना भी है. ऐसा हुआ तो कुंभ मेले के दौरान शाही स्नान के बाद स्थानीय जनसंख्या में कोविड-19 के मामलों में उछाल आएगा. इसके तहत 70 फीसदी आरटीपीसीआर और 30 फीसदी एंटीजन टेस्ट होने चाहिए. इससे तीर्थ यात्रियों में कोरोना की सही जांच हो सकेगी. 

इलाकों में बढ़ाई जाए कोरोना टेस्टिंग
केंद्र सरकार की तरफ से कहा गया है कि इमरजेंसी ऑपरेशनल सेंटर के जरिये सांस संबंधी बीमारियों या इसके लक्षणों की निगरानी की जाए. सभी इलाकों में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाए. जहां कोरोना मामलों की संख्या बढ़ने की आशंका हो, उन जगहों की विशेष निगरानी की जाए. 

सीएम तीरथ सिंह के लिए चुनौती
केंद्रीय सचिव के इस पत्र से प्रदेश के उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (Tirath Singh Rawat) की ओर से ‘जो चाहे, वो आए’ की योजना के सामने चुनौती पैदा हो गई है. प्रदेश सरकार भव्य कुंभ आयोजन के तहत अधिक रोक टोक पर विश्वास नहीं कर रही है. सचिव के पत्र से साफ है कि आने वालों को कोविड रिपोर्ट लेकर आनी होगी और बहुत ज्यादा संख्या में कुंभ स्नान के लिए हरिद्वार की ओर रुख नहीं किया जा सकेगा. 

अभी ये शाही स्नान होने बाकी
12 अप्रैल-सोमवती अमास्वस्या
14 अप्रैल-बैसाखी, मेष पूर्णिमा
27 अप्रैल-चैत्र पूर्णिमा

WATCH LIVE TV

 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *