विश्‍व जल दिवस पर PM मोदी ने की ‘कैच द रेन’अभियान की शुरुआत, कहा-देश में प्रभावी जल प्रबंधन जरूरी


नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व जल दिवस पर ‘जल शक्ति अभियान : कैच द रेन’ की शुरुआत की. विश्‍व जल संचय दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें पानी का दुरूपयोग रोकना होगा और इसके साथ ही देश में प्रभावी जल प्रबंधन भी जरूरी है. 

‘प्रभावी वाटर मैनेजमेंट जरूरी’ 

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि जीवन के हर पहलू के लिए पानी जरूरी है. पानी बचाने के लिए जन-जन की भागीदारी की जरूरत है और इसके लिए प्रभावी वाटर मैनेजमेंट जरूरी है. विश्‍व जल दिवस पर पीएम मोदी ने जल शक्ति अभियान की शुरुआत की. उन्‍होंने कहा कि जीवन के हर पहलू के लिए पानी जरूरी है. पानी पैसे से भी ज्‍यादा कीमती है. इसलिए पानी का दोहन न रोकने से मुश्किलें आएंगी.

जल जीवन मिशन की बात  

पीएम मोदी ने कहा कि जल जीवन मिशन पर तेजी से काम जारी है. मध्‍य प्रदेश और उत्‍तर प्रदेश की की सरकारों ने पानी पर अच्‍छा काम किया है. पानी हर घर, हर खेत के लिए जरूरी है. आज जल संकट की चुनौती बढ़ रही है, इसलिए हमें प्रभावी वाटर मैनेजमेंट पर फोकस करना चाहिए. 

उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना हो या हर खेत को पानी अभियान, ‘Per Drop More Crop’ अभियान हो या नमामि गंगे मिशन, जल जीवन मिशन हो या अटल भूजल योजना, सभी पर तेजी से काम हो रहा है.

केन-बेतबा लिंक नहर के लिए बड़ा कदम 

इसके साथ Catch The Rain की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इसकी शुरुआत के साथ ही केन-बेतबा लिंक नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है. अटल जी ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के लाखों परिवारों के हित में जो सपना देखा था, उसे साकार करने के लिए ये समझौता अहम है. 

उन्‍होंने कहा, वर्षा जल से संरक्षण के साथ ही हमारे देश में नदी जल के प्रबंधन पर भी दशकों से चर्चा होती रही है. देश को पानी संकट से बचाने के लिए इस दिशा में अब तेजी से कार्य करना आवश्यक है. केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट भी इसी विजन का हिस्सा है. आज जब हम जब तेज विकास के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो ये वाटर सिक्‍योरिटी के बिना, प्रभावी वाटर मैनेजमेंट के बिना ये संभव ही नहीं है. भारत के विकास का विजन, भारत की आत्मनिर्भरता का विजन, हमारे जल स्रोतों पर निर्भर है, हमारी वाटर कनेक्टिविटी पर निर्भर है.

वर्षा जल के बेहतर प्रबंधन पर जोर 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत वर्षा जल का जितना बेहतर प्रबंधन करेगा उतना ही ग्राउंड वाटर पर देश की निर्भरता कम होगी, इसलिए ‘Catch the Rain’ जैसे अभियान चलाए जाने, और सफल होने बहुत जरूरी हैं. उन्‍होंने कहा, आजादी के बाद पहली बार पानी की टेस्टिंग को लेकर किसी सरकार द्वारा इतनी गंभीरता से काम किया जा रहा है और मुझे इस बात की भी खुशी है कि पानी की टेस्टिंग के इस अभियान में हमारे गांव में रहने वाली बहनों-बेटियों को जोड़ा जा रहा है.  

पीएम मोदी ने कहा कि सिर्फ डेढ़ साल पहले हमारे देश में 19 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से सिर्फ साढ़े 3 करोड़ परिवारों के घर नल से पानी आता था.  मुझे खुशी है कि जल जीवन मिशन शुरू होने के बाद इतने कम समय में ही लगभग 4 करोड़ नए परिवारों को नल का कनेक्शन मिल चुका है. 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *