West Bengal Election 2021: TMC अपने घोषणापत्र में कर सकती है ये 10 बड़े ऐलान, Mamata Banerjee करेंगी जारी


कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) को लेकर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) आज (17 मार्च) अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर सकती है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) शाम 5 बजे कोलकाता के कालीघाट स्थित अपने आवास से पार्टी का घोषणापत्र जारी कर सकती हैं. इससे पहले टीएमसी (TMC) का घोषणापत्र 11 मार्च को जारी होना था, लेकिन ममता बनर्जी के चोटिल होने के बाद पार्टी ने कार्यक्रम को टाल दिया था.

घोषणापत्र में टीएमसी कर सकती है ये 10 बड़े ऐलान

1. टीएमसी घोषणापत्र में एससी, एसटी और ओबीसी के लिए बड़े ऐलान कर सकती है. पार्टी महिष्या, तमुल, तिली और साहा को ओबीसी में शामिल करने का ऐलान कर सकती है. हावड़ा, हुगली, दक्षिण और उत्तर 24 24 परगना जिलों के साथ-साथ पूर्वी मिदनापुर जिले में महिषी समुदाय का एक बड़ा हिस्सा है. ममता बनर्जी खुद पूर्वी मिदनापुर जिले के नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ रही हैं. इससे लगभग 40-50 सीटें प्रभावित हो सकती हैं.
2. टीएमसी सत्ता में आने पर युवाओं को 5 लाख नौकरियां देने का ऐलान कर सकती है.
3. पार्टी बंगला योजना योजना के तहत गरीबों के लिए पांच लाख घर दिए की घोषणा कर सकती है.
4. दौरे सरकार (Duare Sarkar) के बाद टीएमसी दौरे राशन योजना का ऐलान कर सकती है. इसके तहत सरकार सुनिश्चित करेगी कि 1.5 करोड़ परिवारों को मुफ्त में राशन मिले.
5. शिक्षा पर ध्यान देते हुए टीएमसी राज्य के हर ब्लॉक में एक स्कूल खोलने की घोषणा कर सकती है.
6. हर परिवार को बिजली और पानी की आपूर्ति का ऐलान किया जा सकता है.
7. एमएसएमई इकाइयों (MSME Units) को लेकर कुछ ऐलान संभव हैं.
8. घोषणापत्र में किसानों के लिए कृषक बंधु योजना का ऐलान किया जा सकता है. इसके तहत सरकार किसानों को वित्तीय लाभ देगी.
9. गरीबी रेखा से नीचे के लोगों के लिए भी सरकार घोषणापत्र में ऐलान कर सकती है.
10. घोषणापत्र में तृणमूल कांग्रेस बेरोजगारी कम करने को लेकर भी कुछ घोषणा कर सकती है.

ये भी पढ़ें- बंगाल चुनाव से पहले राज्य सभा सांसद स्वपन दासगुप्ता को देना पड़ा इस्तीफा, जानें क्या है कारण

लाइव टीवी

नंदीग्राम से चुनाव लड़ रही हैं ममता बनर्जी

बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अपनी पारंपरिक सीट भवानीपुर को छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है और उन्होंने 10 मार्च को अपना नामांकन दाखिल किया था. वहीं भारतीय जनता पार्टी ने टीएमसी छोड़कर आए शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) को नंदीग्राम से चुनावी मैदान में उतारा है.

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में होगी वोटिंग

बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) की 294 विधान सभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होगी. राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होंगे, जबकि चुनाव परिणाम 2 मई को आएंगे. पहले और दूसरे चरण में 30-30 सीटों, तीसरे चरण में 31 सीटों, चौथे चरण में 44 सीटों, पांचवें चरण में 45 सीटों, छठे चरण में 43 सीटों, सातवें चरण में 36 सीटों और आठवें चरण में 35 सीटों पर मतदान करवाया जाएगा.



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *