खतरनाक ब्रेन ट्यूमर, सिर्फ 7 दिनों में चली गई 14 महीने के बच्चे की जान; डॉक्टर भी हैरान


पर्थशायर/स्कॉटलैंड: एक बच्चे को ब्रेन ट्यूमर हुआ. उसकी उम्र महज 14 साल की थी. ब्रेन ट्यूमर का पता तब चला, जब उसे उल्टियां होने लगी. लेकिन सिर्फ 1 सप्ताह में बच्चे ने दम तोड़ दिया, क्योंकि उसके सिर में मौजूद हर एक नस ट्यूमर में बदलने लगी थी. डॉक्टर भी हैरान हैं कि इतनी तेजी से बढ़ता ट्यूमर उन्होंने किसी भी मामले में नहीं देखा. डॉक्टरों का कहना है कि पूरी मानव जाति के सामने ये केस बड़ी चुनौती लेकर आया है, क्योंकि इतने सफल और सक्षम डॉक्टरों की मौजूदगी भी इस बच्चे को नहीं बचा पाई. ये अपनी तरह का अकेला केस था, जिसे हैंडल करने में 27 डॉक्टरों की टीम जुटी, लेकिन कुछ नहीं कर पाई.

परिवार को कुछ पता ही नहीं चला

द सन की खबर के मुताबिक, बच्चे का नाम जेम्स पार्कर बताया जा रहा है. जेम्स को पिछले सप्ताह उल्टियां होने लगी थी. तो माता-पिता उसे लेकर अस्पताल गए. जहां जांच में पता चला कि बच्चे को ब्रेन ट्यूमर है. और वो काफी बड़ा हो चुका है. हैरानी की बात है कि जेम्स ने अबतक किसी भी परेशानी को जाहिर नहीं होने दिया था. या कहें कि ट्यूमर बिना दर्द दिए लगातार बड़ा होता गया. आनन फानन में उसे अस्पताल में भर्ती कर लिया गया और इलाज शुरू किया गया. सबसे ज्यादा डरावनी बात ये रही कि जेम्स के मामले में कीमो-थेरेपी से कोई मदद नहीं मिल रही थी. इस बीच उसका ऑपरेशन करने की भी तैयारी हुई. अस्पताल में 27 डॉक्टर जुटे और ऑपरेशन शुरू भी हो गया. लेकिन इस बीच जेम्स के दिल ने धड़कना बंद कर दिया. 

बुरे सपने जैसा सबकुछ

जेम्स के पिता डीन पार्कर और मां होली को कुछ भी समझ नहीं आया कि उनके जिगर के टुकड़े के साथ क्या हो रहा है. उनके सामने ही सबकुछ मुट्ठी में कैद रेत की तरह फिसल गया. समय बीतने के साथ ही उन्हें जब कुछ अहसास हुआ, तो उन्हें पता चला कि उनकी दुनिया बदल चुकी है. जिस बच्चे को वो बड़े नाजों से पाल रहे थे, वो 14 माह का बच्चा अब उनके पास कभी लौट कर नहीं आएगा. डीन रोते हुए कहते हैं कि उन्हें किसी बात का पता ही नहीं चला. सबकुछ एक बुरे सपने की तरह तेजी से हुआ. महज एक सप्ताह में हमारा जेम्स हमें छोड़कर चला गया. 

ये भी पढ़ें: बगल के घर से आती थी ‘अजीब आवाजें’, पत्र लिखकर पड़ोसी को बताई समस्या और….

डॉक्टरों ने क्या कहा?

इस मामले को देख रखे न्यूरो सर्जन ने कहा कि वो हैरान हैं. उन्होंने कहा कि मैंने अपने पूरे करियर में ऐसा कोई मामला नहीं देखा, जिसमें किसी का ट्यूमर इतनी तेजी से बढ़ा हो. उन्होंने कहा कि बीमारी से पहले जेम्स ने कभी किसी तरह का दर्द तक महसूस नहीं किया था. उन्होंने कहा कि हम बच्चे के माता-पिता को संभालने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि बच्चे के मेडुल्लोब्लास्टोमा कैंसर था, जिसपर कीमोथेरेपी का कोई असर नहीं होता. 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *