Rajasthan University में ABVP कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, विरोध प्रदर्शन के दौरान छात्रों की पुलिस से झड़प


Jaipur : 21 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले 23 दिनों से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (Akhil Bharatiya Vidyarthi Parishad) के छात्र राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University) में धरना और अनशन पर थे, इस दौरान अपनी मांग को लेकर आज एबीवीपी कार्यकर्ताओं (ABVP Workers) ने विरोध प्रदर्शन तेज कर दिया. प्रदर्शन के दौरान एबीवीपी कार्यकर्ता पुलिसकर्मियों से उलझ गए. पुलिस (Jaipur Police) ने एबीवीपी कार्यकर्ता और छात्रों पर बल प्रयोग कर उन्हें खदेड़ दिया.

यह भी पढ़ें- राजस्थान: महिला अपराध को लेकर ABVP का गहलोत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, कहा…

आपको बता दें कि 21 सूत्री मांगों को लेकर पिछले 23 दिनों से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (Rajasthan ABVP) की ओर से राजस्थान यूनिवर्सिटी (RU) में धरना और अनशन किया जा रहा है. प्रमोटी छात्रों को 5 फीसदी बोनस अंक, छात्रवृत्ति शुरू करने, नई लाइब्रेरी को शुरू करने सहित 21 सूत्री मांगों को लेकर दिए जा रहे धरने में अभी तक कोई वार्ता नहीं होने के बाद अब एबीवीपी कार्यकर्ताओं (Rajasthan ABVP News) में भारी आक्रोश है और इसी को लेकर आज राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University lathicharge) में एबीवीपी सम्मेलन और विरोध प्रदर्शन किया गया.

एबीवीपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए एबीवीपी के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री प्रफुल्ल आकांत जयपुर पहुंचे. आकांत ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं से मांगों को लेकर जयपुर महानगर को जाम करने का आह्वान तक कर दिया. एबीवीपी प्रांत संगठन मंत्री अर्जुन तिवाड़ी (Arjun Tiwari) ने बताया कि “23 दिनों से 21 सूत्री मांगों को लेकर एबीवीपी का धरना और अनशन जारी है, लेकिन इसके बाद भी यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा मांगों को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है.

हालांकि तीन मांगों पर सहमति बन चुकी है, लेकिन इसके बाद भी 18 मांगों को लेकर धरना जारी है और जब तक इन मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तब तक धरना और अनशन इसी प्रकार से जारी रहेगा और आने वाले दिनों में यूनिवर्सिटी (University of Rajasthan) को और भी बड़े आंदोलन का सामना करना पड़ सकता है.”

यह भी पढ़ें- RU में ABVP का बड़ा विरोध प्रदर्शन, University प्रशासन का पुतला फूंका



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *