Bihar: उपेंद्र कुशवाहा के JDU में शामिल होने पर नीतीश कुमार का सदेंश, ‘हम एक थे एक रहेंगे’


Patna: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वीरचंद पटेल स्थित जदयू कार्यालय के कर्पूरी सभागार में (RLSP)के जदयू में विलय को लेकर आयोजित मिलन समारोह में शामिल हुए. संबोधन में मुख्यमंत्री ने सभी लोगों का अभिनंदन करते हुए कहा, ‘आज खुशी की बात है कि पिछले कई दिनों से जो बातें चल रही थी कि उपेंद्र कुशवाहा जदयू में शामिल होंगे, आज वे अपने पार्टी के साथियों के साथ जदयू में शामिल हो गये हैं.’ चुनाव के बाद से ही बातें होती रही थी . इसपर वशिष्ठ नारायण सिंह से सबसे ज्यादा बातचीत होती रही. शुरु से ही हमने कहा था कि उपेंद्र कुशवाहा अपनी पार्टी में सभी लोगों से बात कर लें, तभी कोई निर्णय लें. सारी बातें होने के बाद ही आज रालोसपा का विलय जदयू में हुआ.

हम एक थे एक रहेंगे 

हमलोग पहले भी एक थे और आगे भी एक रहेंगे, हम मिलकर विकास का काम करेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर अनाप-शनाप प्रचार करते हैं. लेकिन हम अपने साथियों से हमेशा कहते रहे हैं कि जो गलत बातें हैं उनका जवाब दीजिए. साथ ही, सकारात्मक बातों को भी लोगों तक पहुंचाएं. हमलोग पहले जो काम करते थे, सबलोगों तक जानकारी पहुंच जाती थी, लेकिन आज लोगों को गुमराह किया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें-RLSP के JDU में विलय पर विपक्ष ने साधा निशाना, कहा- उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश के सामने टेक दिए घुटने

जार्ज फर्नान्डिस को किया याद

सीएम ने कहा कि जॉर्ज साहब के नेतृत्व में 1994 में जो पार्टी बनी वही जनता दल यू बना. उन्होंने कहा कि चंद लोग गड़बड़ करने वाले होते हैं. 90 प्रतिशत लोग अच्छे हैं. हमलोग राजनीति करते हैं. इसका व्यापक अर्थ है, समाज के प्रति अच्छी भावना रखते हुये सभी को एकजुट रखना. उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि मेरी कोई ख्वाहिश नहीं है. हमलोग भी सोचेंगे कि आपकी प्रतिष्ठा, आपकी हैसियत का ख्याल रखें.

कुशवाहा को बनाया संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष

नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा को JDU के संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष घोषित करते हुए कहा कि आरसीपी सिंह को आज ही पत्र भेज दिया है, तत्काल प्रभाव से उपेंद्र कुशवाहा जनता दल के राष्ट्रीय संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष होंगे. इनका पार्टी में सम्मान तो होगा ही, साथ ही इन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी दी जा रही है. वे पार्टी के वरिष्ठ नेता के तौर पर काम करेंगे.

बिहार के विकास के मुद्दे के बारे में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा मकसद बिहार को विकसित राज्य बनाना है. बिहार में शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण, बिजली, पानी सहित विकास के हर क्षेत्रों में कार्य किये जा रहे हैं. बाल विवाह के विरुद्ध अभियान चलाया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब बुरी चीज है. 2018 में शराबबंदी पर सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया. महिलाओं की मांग पर ही यह निर्णय लिया गया. शराबबंदी को लेकर मेरा कोई व्यक्तिगत स्वार्थ नहीं है. शराबबंदी को लेकर कोई समझौता नहीं होगा. सबको जागृत रहने की जरुरत है.



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *