India-China की डिजिटल वार्ता, Eastern Ladakh में तनाव घटाने के लिए बातचीत जारी रखने पर जताई सहमति


नई दिल्ली: भारत (India) और चीन (China) ने पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर शेष मुद्दों के समाधान को लेकर शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से चर्चा की. दोनों पक्षों ने कहा कि पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी किनारे से सैनिकों को पीछे हटाने के कदम ने बाकी मुद्दों के समाधान के लिए अच्छा आधार प्रदान किया है.

किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए दोनों पक्ष सहमत

विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि दोनों देशों ने सहमति व्यक्त की कि उन्हें जमीनी स्तर पर स्थिरता बनाए रखनी चाहिए और किसी भी अप्रिय घटना से बचना चाहिए. दोनों पक्षों ने इस बात पर भी सहमति व्यक्त की कि दोनों देशों को गतिरोध वाले सभी स्थानों से जल्द से जल्द सैनिकों की पूर्ण वापसी के लिए परस्पर स्वीकार्य समाधान पर पहुंचने के लिए वार्ता जारी रखनी चाहिए. बयान में कहा गया कि लगातार वार्ता से दोनों पक्षों को क्षेत्र में सैनिकों को पीछे हटाने और सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बहाली करने में मदद मिलेगी.

LaC पर स्थिति की दोनों पक्षों ने समीक्षा की

दोनों पक्षों ने इस बात पर भी सहमति व्यक्त की कि पिछले वर्ष सितंबर में मास्को में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच बनी सहमति और पिछले महीने टेलीफोन पर हुई चर्चा के अनुरूप दोनों पक्षों को काम करना जारी रखना चाहिए. बयान के मुताबिक, दोनों पक्षों ने पश्चिमी सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर स्थिति की समीक्षा की और इस सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शेष मुद्दों के समाधान को लेकर गहराई से चर्चा की. 

दोनों पक्ष सीमा पर शांति बनाए रखेंगे- चीन

वहीं, चीनी (China) विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि दोनों पक्ष सीमावर्ती क्षेत्रों में कड़ी मेहनत से बनी शांति को संयुक्त रूप से कायम रखने पर सहमत हुए. दोनों बयानों में कहा गया है कि दोनों पक्ष राजनयिक और सैन्य माध्यम से गहन बातचीत को कायम रखने पर सहमत हुए. दोनों पक्षों ने 11 वें दौर की सैन्य वार्ता जल्द से जल्द आयोजित करने पर सहमति जताई. 

ये भी पढ़ें- India का China को करारा जवाब, सरकार ने भारतीय एयरलाइंस से कहा- चीनियों को भी ना लाएं भारत

कई इलाकों में अब भी अनसुलझा है मामला

जानकारी के मुताबिक भारत (India) हॉट स्प्रिंग, गोगरा और देपसांग इलाकों में तेजी से सैनिकों की वापसी पर जोर दे रहा है. जबकि इन जगहों पर डिसएंगेजमेंट के बारे में चुप्पी साधे हुए है. इस डिजिटल बातचीत में भारतीय शिष्टमंडल का नेतृत्व विदेश मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव (पूर्वी एशिया) नवीन श्रीवास्तव ने और चीनी पक्ष का नेतृत्व चीन (China) के विदेश मंत्रालय के सीमा एवं समुद्री विभाग के महानिदेशक हांग लियांग ने किया. 

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *