जानिए CM शिवराज ने क्यों कहा, काश 1975 में भी इंटरनेट और ट्विटर होता तो…


भोपालः ज्योतिरादित्य सिंधिया पर दिए गए बयान के बाद बीजेपी के नेता लगातार राहुल गांधी पर हमलावर हैं. एक दिन पहले सीएम शिवराज ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा था कि उनकी ट्यूबलाइट देर से जलती है. अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर ट्वीट कर राहुल गांधी पर तंज कसा है.

1975 में इंटरनेट होता
मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ”काश. 1975 में इंटरनेट होता और ट्विटर भी होता. राहुल जी आज है, उतने ही ”समझदार” होते और 25 जून, 1975 को राहुल जी ने ये ट्वीट किया होता काश” दरअसल, सीएम शिवराज का यह ट्वीट राहुल गांधी के उस बयान से जोड़कर देखा जा रहा है. जिसमें उन्होंने देश में लगाए गए आपातकाल को गलत बताया था. 

दरअसल, राहुल गांधी ने एक कार्यक्रम 1975 में लगाए गए अपातकाल को गलत बताया था. उन्होंने कहा था कि उनकी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उनसे बचपन में कहा था कि आपातकाल लगाना सही नहीं था. 

ये भी पढ़ेंः इस बात पर उमा भारती ने राहुल गांधी को दी संघ की शाखा में जाने की सलाह, बंगाल चुनाव को लेकर कह गईं बड़ी बात

राहुल की ट्यूबलाइट देर से जलती है 
इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर दिए गए राहुल गांधी के बयान पर सीएम शिवराज ने कहा था कि ‘कांग्रेस ने केवल ज्योतिरादित्य जी के साथ अन्नाय नहीं किया, कांग्रेस ने तो स्वर्गीय कैलाशवासी माधवराव सिंधिया के साथ भी अन्नाय किया है, उन्हें कभी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने नहीं दिया. मंगलवार को इंदौर दौरे पर पहुंचे सीएम शिवराज ने कहा कि ‘ज्योतिरादित्य सिंधिया जब साथ थे तो लात मारते थे, अब जब बाहर चले गए तो इशारे से बुला रहे हैं. जब सिंधिया कांग्रेस में थे तब राहुल गांधी कहां गए थे?, मतलब राहुल गांधी की ट्यूबलाइट देर से जलती है.’

यानि राहुल गांधी पर बीजेपी के नेता लगातार निशाना साधने में लगे हैं. इससे पहले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा था. अब सीएम शिवराज ने फिर से ट्वीट कर उन्हें निशाना बनाया है. 

ये भी पढ़ेंः ‘सिंधिया कांग्रेस में होते तो CM बन जाते’…शिवराज बोले- ‘राहुल गांधी की ट्यूबलाइट देर से जलती है’

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *