UK: बिना सेक्स किए प्रेग्नेंट हो गई महिला, डॉक्टर भी रह गए दंग


नई दिल्ली: ब्रिटेन (Britain) में एक अजब-गजब मामला सामने आया. जिसे देख मेडिकल साइंस में बड़ा नाम कमाने वाले डॉक्टर भी दंग रह गए. डेली मेल (Daily Mail) में छपी खबर के मुताबिक ब्रिटेन के पोर्ट्समाउथ (Portsmouth) की रहने वाली महिला ने अपनी हैरान कर देने वाली प्रेग्नेंसी की कहानी बताई है. इस समय 28 साल की निकोल मोरे (Nicole Moore) ने बताया कुछ साल पहले वो बिना सेक्स किए ही प्रेग्नेंट हो गई थी.

कई साल पहले का मामला

निकोल ने सोशल मीडिया में जो कहानी साझा की उसके मुताबिक कई साल पहले वो अपने ब्वॉयफ्रेंड को डेट कर रही थीं. उसी दौरान एक दिन अचानक उन्हें जी मचलाने के साथ चक्कर आने की शिकायत हुई. कुछ समय बाद फिर सीने में जलन और चक्कर महसूस हुए तो दोस्त के कहने पर निकोल ने प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया. हैरानी तब हुई जब उनकी प्रेग्नेंसी टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. दरअसल निकोल वर्जिन यानी कुंवारी थीं जो काफी कोशिशों के बावजूद ब्वॉयफ्रेंड के साथ शारीरिक संबंध नहीं बना पाईं थीं. हालांकि तब वो दोनों इंटीमेट होने के लिए कई दूसरे तरीके आजमाते थे.

ये भी पढ़ें – New York Governor Cuomo की मुश्किलें बढ़ीं, एक और महिला ने लगाया Inappropriately Touching का आरोप​

इसलिए हुआ अचंभा

निकोल ने बताया, ‘मैं टैम्पोन तक का इस्तेमाल नहीं कर पाती थी. बहुत कोशिशों के बाद भी मैं सेक्स नहीं कर पाती थी क्योंकि मुझे तेज दर्द होता था. डॉक्टर्स ने पहले कहा कि यह चिंता की बात नहीं है.’ बात आगे बढ़ी तो प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान निकोल को पता चला कि वो आखिरकार शारीरिक संबंध क्यों नहीं बना पाती हैं. कई चेकअप और मेडिकल टेस्ट के बाद डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि वो वेजिनीस्मस डिसीज से पीड़ित हैं. इस बीमारी से पीड़ित महिला की वजाइना मसल्स काफी सिकुड़ जाती हैं जिससे रिलेशन बनाना नामुमकिन हो जाता है. 

प्रेग्नेंट होने की वजह दुर्लभ बीमारी

हैरतअंगेज कहानी में निकोल ने दावा किया कि शुरुआत में तो डॉक्टर और नर्स भी दंग रह गए कि आखिर बिना सेक्स ऐसा कैसे हो सकता है. कुछ और टेस्ट और सेकेंड ओपिनियन के बाद उन्हें अपनी हालत का पता चला. वो ये जान पाईं कि सेक्स ना होने के बावजूद भी अगर किसी तरह स्पर्म वजाइना में चला जाए तब भी प्रेग्नेंसी संभव है. हालांकि ये रेयर ऑफ रेयरेस्ट बीमारी वेजिनीस्मस (vaginismus) के मामलों में होता है जो कि निकोल के साथ हुआ.

सब कुछ साफ होने के बाद निकोल एक वेजिनीस्मस थेरेपिस्ट से मिली और उसकी मदद से वो उस दौर से बाहर आ सकीं. इसके बाद डिलीवरी के समय भी उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई. निकोल ने कहा ट्रामा से गुजरने के बाद धीरे-धीरे हालात सामान्य हुए. वो अब काफी हद तक इस बीमारी से उबर चुकी हैं. सोशल मीडिया पर ये कहानी पोस्ट होने के बाद उसे पढ़ने वाले लोग भी हैरान हो कर प्रतिक्रिया दे रहे हैं.   

LIVE TV
 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *