खाकी ने बचाई गर्भवती महिला की जान, बच्चे ने लिया जन्म तो रख दिया ‘सिपाही’ नाम


त्रिपुरेश त्रिपाठी/देवरिया: देवरिया जिले में पुलिस का मानवीय चेहरा देखने को मिला. यहां पुलिस की दरियादिली के चलते एक मां ने अपने नवजात बेटे का नाम सिपाही रखा. साथ ही कहा कि वह अपने बेटे को पुलिस बनाएगी ताकि वह बड़ा होकर दूसरों की मदद कर सके. 

UP GK: अगर आप भी कर रहे हैं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी, पढ़ें यूपी से जुड़े ये टॉप- 10 सवाल

क्या है मामला ?
मामला देवरिया जनपद के तरकुलवा थाना क्षेत्र का है, जहां बीच रास्ते में एक महिला प्रसव पीड़ा से तड़प रही थी. महिला अपने पति के साथ बाइक पर अस्पताल जा रही थी. जब उससे दर्द बर्दाश्त नहीं हुआ तो वह बाइक से उतरकर सड़क पर बैठ गई. पति भी उसको लेकर परेशान था कि इस हालत में किसी तरह उसे अस्पताल पहुंचा सके. तभी तरकुलवा थाना के थानेदार प्रदीप शर्मा की नजर उस महिला पर पड़ी. उन्होंने तुरंत अपनी गाड़ी में महिला को बैठाया और अस्पताल पहुंचाया. 

‘मनहूस’ सरकारी बंगला, जहां रहते हुए कार्यकाल पूरा होने के पहले ही मुख्यमंत्री हो गए ‘पूर्व’

लोगों ने की तारीफ 
वहीं, अस्पताल के फार्मासिस्ट मुरारी लाल सिंह ने बताया कि एसओ महिला को अपनी गाड़ी में बैठाकर तरकुलवा सामूहिक स्वास्थ्य केंद्र ले आये. यहां पहुंचते ही गेट के सामने महिला ने बच्चे को जन्म दिया. थानेदार के इस मानवीय कार्य से महिला और बच्चे दोनों की जान बच गई. फार्मासिस्ट ने भी थानेदार के कार्य की प्रशंसा की. 

 पुरुष भूलकर भी न करें इन 5 चीजों का सेवन, वरना बाद में पड़ सकता है पछताना!

बेटे का नाम रखा सिपाही 
वहीं, बच्चे को जन्म देने वाली महिला पुलिस के इस कार्य को देखकर इतना प्रभावित हुई कि उसने अपने बच्चे को पुलिस बनाने की ठान ली. इतना ही नहीं उसने अपने बेटे का नाम सिपाही रख दिया. वहीं, एसओ प्रदीप शर्मा का कहना था कि इनकी मदद करके बहुत अच्छा लग रहा है. पुलिस का काम है लोगों की मदद करना. 

बच्ची ने गाया गाना और डॉगी ने मटका दी कमर, Video देख हंसी नहीं रोक पाएंगे आप

WATCH LIVE TV

 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *