Indian railways: रेलवे ने प्लेटफॉर्म टिकट के दाम तीन गुना बढ़ाए, अब 10 की जगह 30 रुपये देने होंगे


नई दिल्ली: Indian Railways: पेट्रोल-डीजल, LPG, CNG-PNG की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी के घर का बजट पहले से ही बिगाड़ रखा है, अब भारतीय रेलवे ने प्लेटफॉर्म टिकट (Platform Tickets) भी महंगा कर दिया है. राजधानी दिल्ली के अलग अलग रेलवे स्टेशनों पर आज से प्लेटफॉर्म टिकट महंगा कर दिया गया है. आपको बता दें कि कोरोना महामारी की वजह से एक साल पहले प्लेटफॉर्म टिकट की सेवा बंद पड़ी थी, जिसे आज से शुरू किया गया है. 

दिल्ली में प्लेटफॉर्म टिकट तीन गुना महंगा

रेलवे की ओर से जारी नए नोटिफिकेशन के मुताबिक प्लेटफॉर्म टिकट का दाम 10 रुपये से बढ़ाकर 30 रुपये कर दिया गया है. इसके अलावा रेलवे ने लोकल किरायों में भी बढ़ोतर कर दी है. इसे भी 10 रुपये से बढ़ाकर 30 रुपये कर दिया गया है. यानी अगर आप दिल्ली से गाजियाबाद सफर करते हैं तो आपको 10 रुपये की जगह 30 रुपये देना होगा. प्लेटफॉर्म टिकट महंगा करने के पीछे रेलवे का तर्क है कि कोरोना महामारी के बीच स्टेशनों पर ज्यादा भीड़ इकट्ठा न हो इसलिए ये फैसला लिया गया है. राजधानी दिल्ली में प्लेटफॉर्म टिकट के नए रेट आज यानी 5 मार्च से लागू हो हुए हैं.

ये भी पढ़ें- ड्राइविंग लाइसेंस, RC के लिए RTO जाने की जरूरत नहीं, अब घर बैठे ऑनलाइन मिलेंगी ये 18 सुविधाएं

मुंबई में प्लेटफॉर्म टिकट 5 गुना महंगा 

दिल्ली के अलावा मुंबई में भी प्लेटफॉर्म के दाम बढ़ चुके हैं. सेंट्रल रेलवे (Central Railway) ने मुंबई मेट्रोपोलिटन रिजन (MMR) के प्रमुख स्‍टेशनों के प्‍लेटफॉर्म टिकटों के दाम 5 गुना तक बढ़ा दिए हैं. मुंबई में प्लेटफॉर्म टिकट के नए रेट 1 मार्च से लागू हो चुके हैं और 15 जून तक रहेंगे. रेलवे के एक अधिकारी ने ये जानकारी दी है. रेलवे को लगता है कि आने वाली गर्मियों में रेल मुसाफिरों की भारी भीड़ स्टेशनों का रुख करेगी. जिससे कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के फैलने का डर है. 

इन स्टेशनों पर महंगा हुआ प्लेटफॉर्म टिकट 

सेंट्रल रेलवे ने मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT), दादर और लोकमान्य तिलक टर्निमस और ठाणे, कल्याण, पनवेल और भिवंडी रोड स्टेशनों पर प्‍लेटफॉर्म टिकटों की कीमत 10 रुपए से बढ़ाकर 50 रुपए कर दी है. ये वो स्टेशन हैं जहां पर यात्रियों की संख्या आमतौर पर भी ज्यादा होती है. इसके पहले मार्च 2020 में भी कोरोना वायरस से बचने के लिए भारतीय रेलवे ने प्लेटफॉर्म टिकट का दाम बढ़ाने का फैसला किया था. सेंट्रल रेलवे ने मुंबई, पुणे, भुसावल और सोलापुर डिवीजन्‍स में प्‍लेटफॉर्म टिकटों के दाम 10 रुपए से बढ़ाकर 50 रुपए कर दिए थे.

‘इसमें कुछ भी नया नहीं है’

प्लेटफॉर्म टिकट के दाम बढ़ाने के पीछे रेलवे ने सफाई भी दी है, रेलवे का कहना है कि स्टेशनों पर भीड़ को नियंत्रित करना हमारी जिम्मेदारी है. ये एक टेम्पररी कदम है जो यात्रियों के हितों को ध्यान में रखते हुए उठाया गया है. लोगों की ज्यादा भीड़ रेलवे स्टेशनों पर न आए, इसलिए समय समय पर प्लेटफॉर्म टिकट के दाम बढ़ाए जाते रहे हैं, ऐसा सिर्फ कुछ समय के लिए किया जाता है, इसमें कुछ भी नया नहीं है.

 ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों को होली से पहले मिलेगी खुशखबरी! महंगाई भत्ते के साथ आएगा एरियर?

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *