कहीं काली मिर्च के नाम पर ऑयल पेंटेड पपीते का बीज तो नहीं खा रहें आप! ऐसे करें चेक


लखनऊ:  मध्य प्रदेश से कुछ समय पहले खबर सामने आई थी कि काली मिर्च में भारी मात्रा में ऑयल (White Oil) मिलाया जा रहा है. लेकिन यह सिर्फ एक उदाहरण है. हमारे घरों में रोजना इस्तेमाल में आने वाली काली मिर्च (Black Pepper) में कई किस्म की मिलावट की जा सकती है. हो सकता है कि आप काली मिर्च के नाम पर ऑयल पेंटेड पीपते का बीज (Papaya Seeds) खा रहे हों. लेकिन आप इससे चीज से बच सकते हैं. इस बात का पता लगा सकते हैं कि काली मिर्च असली है या नकली. आइए डिटेल में जानते हैं…

कैसे होता है काली मिर्च में मिलाटव?
काली मिर्च में सामान्य: पपीते के बीज की मिलावट की जाती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  एक किलो काली मिर्च में ढाई सौ से तीन सौ ग्राम तक मिलावट की जाती है. ग्राहकों को शक ना हो, इसके लिए  व्हाइट ऑयल की पॉलिश भी की जाती है. इससे पपीते के बीच बिल्कुल काली मिर्च की तरह चमकने लगते हैं. यहां तक कि कई बार जला ऑयल मिलाने तक की खबरें सामने आ चुकी हैं. 

क्या हो सकता है नुकसान?
दरअसल, ऑयल,  व्हाइट ऑयल खाने का सीधा असर लीवर पड़ता है. इसके अलावा पेट संबंधी समस्याएं भी हो सकती है. वहीं, पपीते का बीज भी सेहत के लिए नुकासन दायक है. पपीते का बीच खाने से पेट और लीवर के गंभीर रोग हो जाते हैं. यहां तक की यह गर्भपात का भी कारण बन सकता है. 

कैसे करें असली काली मिर्च की पहचान?
असली काली मिर्च का पहचान करना काफी आसान है. च ग्राम काली मिर्च एक ग्लास अल्कोहल में डालें. पांच मिनट बाद उसमें पपीते के बीच ऊपर तैरते नजर आएंगे. हालांकि, कभी-कभी खोखले बीच भी ऊपर तैरने लगते हैं. इसे पता करने के लिए आप हाथों से दबाकर देख सकते हैं. अगर बीच टूट जाते हैं, खोखले बीच हैं. नहीं, टूट हैं, तो वह पपीते के बीच हैं. 

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *