कोरोना पर अलर्ट हुई शिवराज सरकार, शासन की अनुमति से कलेक्टर जिलों में लगा सकते हैं नाइट कर्फ्यू


भोपालः मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले फिर से बढ़ते नजर आ रहे हैं. ऐसे में शिवराज सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है. गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा ने बताया है कि कोविड की रोकथाम के लिए अगर जरूरत पड़ती है, तो कलेक्टरों द्वारा जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकेगा. हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि किसी भी जिले में नाइट कर्फ्यू लगाने से पहले कलेक्टर को मध्यप्रदेश शासन से अनिवार्य रूप से अनुमति लेनी होगी.

पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना मरीज
डॉ. राजेश राजौरा ने बताया कि मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है. ऐसे में मध्यप्रदेश में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये विभिन्न स्तरों पर मॉनीटरिंग की जा रही है. साथ ही जिन जिलों की सीमा महाराष्ट्र से लगी है, वहां सख्ती बरतने के निर्देश दिए गए हैं. डॉ. राजौरा ने बताया महाराष्ट्र से होने वाले आवागमन पर सख्ती से नजर रखने के आदेश जिले के अधिकारियों को दिए गए हैं.

मास्क नहीं लगाने पर होगी कार्रवाई
इससे पहले कल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए सभी जिलों के कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं, मास्क न लगाने और सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं  करने पर कार्रवाई की जाए. इसके अलावा गृह विभाग की तरफ से भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बैतूल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बड़वानी खंडवा, खरगोन, बुराहनपुर और अलीराजपुर जिलों के कलेक्टरों को अपने-अपने जिले में  क्राइसिस कमेटी की बैठक आयोजित कर कोविड की रोकथाम की प्लानिंग करने के निर्देश भी दिए गए थे.

ये भी पढ़ेंः लिफ्ट में फंसे थे CM शिवराज और पूर्व सीएम कमलनाथ, घटना के बाद चौकन्नी हुई सरकार, दिए ये निर्देश

महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की होगी जांच
पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र में फिर से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है. प्रदेश के कई जिलों की सीमाएं महाराष्ट्र से लगी हैं, ऐसे में बैठक में यह फैसला लिया गया है कि महाराष्ट्र की तरफ से आने वाले सभी लोगों की  RTPCR की जांच करवाई जाएगी. इसके अलावा अंतरराज्यीय आवागमन के दौरान भी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं. महाराष्ट्र से सटे बालाघाट जिले के कलेक्टर ने जिले में नाइट कर्फ्यू लगाने की मांग की है. हालांकि इस पर सरकार बुधवार को फैसला लेगी.

ये भी पढ़ेंः मार्कशीट में थी गड़बड़ी, नाराज छात्रा कलेक्टर की गाड़ी के आगे बैठी, जानिए फिर क्या हुआ

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *