बिहार का बजट राज्य को आत्मनिर्भर और आम जनता के सपनों को साकार करने वाला- Nityanand Rai


Patna: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय (Nityanand Rai) ने बिहार बजट (Bihar Budget 2021) को आत्मनिर्भर बिहार (Aatmnirbhar Bihar) के सपने को साकार करने वाला बताया है, साथ ही कहा कि बिहार की आम जनता के आर्थिक स्वावलंबन की दिशा में एक बेहतरीन बजट पेश करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और उपमुख्यमंत्री सह वित्तमंत्री तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) को बधाई और धन्यवाद दिया है. 

राय ने कहा, ‘वर्ष 2020-2025 में सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्र में रोजगार के 20 लाख से ज्यादा नए अवसर सृजित किए जाएंगे. इस हेतु उद्योग विभाग के वित्तीय वर्ष 2021- 22 में 200 करोड़ रूपये के व्यय का उपबंध किया गया है. नया उद्यम और व्यवसाय के लिए परियोजना लागत का 50 प्रतिशत, अधिकतम 5 लाख रूपए तक का अनुदान दिया जाएगा और अधिकतम 5 लाख का जाएगा. हर जिले में कम से कम एक मेगा स्किल सेंटर (Mega Skill Centre) खोला जाएगा.’

ये भी पढ़े-Bihar Budget 2021: 2 लाख 18 हजार 570 करोड़ रुपए का बजट पेश, महिलाओं-युवाओं के लिए विशेष ऐलान

नित्यानंद राय (Nityanand Rai) ने कहा कि भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व में कोविड- 19 से सफलतापूर्वक संघर्ष करते हुए हम बाहर निकले हैं. कोविड (Corona) के बाद से पूरे दौर में देश और बिहार की अर्थव्यवस्था का जिस बेहतरी से संचालन किया गया है, वह दुनिया में एक मिसाल से कम नहीं है. यह बजट संतुलित है और सभी वर्गों के हित को ध्यान में रखकर बनाया गया है. वर्ष 2005 से अब तक राज्य की अर्थव्यवस्था में विकास दर डबल डिजिट में रही है. उसे यह बजट और गति देकर बिहार के विकास का नया मानदंड स्थापित करेगा. 

ये भी पढ़े-ट्रैक्टर चलाकर विधानसभा पहुंचे तेजस्वी, कहा: पेट्रोल-डीजल दाम, 10वीं पेपर लीक पर सरकार को सांप सूंघ गया है

नित्यानंद राय (Nityanand Rai)ने बिहार बजट की चर्चा करते हुए कहा कि लॉकडाउन के कारण समस्याग्रस्त आम आदमी, उद्योग एवं व्यापार, किसान, श्रमिक और पशुधन आदि प्रक्षेत्रों को सहायता देने के लिए भारत सरकार द्वारा तीन चरणों में करीब 27.10 लाख करोड़ के आत्मनिर्भर भारत पैकेज (AatmaNirbhar Bharat Package) की घोषणा की गई थी. कोरोना लॉकडाउन (Lockdown) के कारण आर्थिक कठिनाई का सामना कर रहे गरीब लोगों को D.B.T के माध्यम से 1.64 करोड़ राशनकार्डधारी के खाते में 1000 रुपये प्रति कार्डधारी अंतरित किया गया है. इस मदद में 1600 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान किया गया है.



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *